Neeraj Chopra Biography in Hindi (Javelin Thrower) | भाला फेंक एथलीट, ओलंपिक 2021, नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

गुमाँ है उसे कि मेरी उड़ान कुछ कम है।

पर यकीं है मुझे कि ये आसमान कुछ कम है ।।

भारत एक ऐसा देश है जहां क्रिकेट, खेल शब्द का पर्याय है ।  क्रिकेट के जुनून के चलते देश में खिलाड़ी पैदा होते हैं तो क्रिकेटर, दर्शक मिलते हैं तो क्रिकेट के ।  क्रिकेट की दीवानगी का आलम ये है कि लोग दूसरे खेलों या एथलेटिक्स को देखना और जानना भी नहीं चाहते ।  

क्रिकेट की जुनूनियत के आलम के दरमियान एक शख्स ऐसा भी है जिसने क्रिकेट से अलग खेल को सीखा, खेला, और उसी को जिया भी।  और अंत में उसी खेल की बदौलत अपने देश का  सिर गौरव से ऊंचा कर दिया ।  जी हां…….. टोक्यो ओलंपिक 2021 में 121 सालों के लंबे इंतजार के बाद ट्रैक एंड फील्ड, भाला फेंक प्रतियोगिता में भारत को स्वर्ण पदक दिलाया।

दोस्तों ! अब आप समझ चुके होंगे हम यहां किसकी बात कर रहे हैं ।  जी हां…….. नीरज चोपड़ा ( Neeraj Chopra )

यही वह नाम है, जिसने अपने जुनून और मेहनत के बल पर इतिहास रच दिया है ।  क्रिकेट के दीवाने देशवासियों को इस बात पर गर्व करने का अवसर दिया है कि उनके पास ऐसी प्रतिभाएं भी हैं जो ओलंपिक एथलेटिक्स में भी स्वर्ण पदक जिता कर देश का नाम रोशन कर सकते हैं । इसी प्रतिभाशाली खिलाड़ी ने हाल ही में  वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2022 में 88.13 मी0 भाला फेंक कर देश को एक और रजत पदक दिलाया है ।

तो आइए दोस्तों, आज हम आपको ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट, जैवलिन चैंपियन के बारे में अपने इस लेख Neeraj Chopra Biography in Hindi (Javelin Thrower) | भाला फेंक एथलीट, ओलंपिक 2021, नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय के माध्यम से विस्तार से बताते हैं ।

Topics Covered in This Page

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय ।  Neeraj Chopra Biography in Hindi

Information About Neeraj Chopra in Hindi, Neeraj Chopra Wikipedia

बिन्दु सूचना
वास्तविक नाम ( Real Name ) नीरज चोपड़ा
उपनाम ( Nick Name ) नीरू, गोल्डन ब्वॉय
जन्म तारीख ( Birth Date )24 दिसंबर 1997
जन्म स्थान ( Birth Place ) खंडरा गाँव, पानीपत, हरियाणा, भारत
गृह नगर ( Home Town )पानीपत
उम्र ( Age ) 24 वर्ष (जुलाई 2022 के अनुसार )
शिक्षा ( Education )ग्रेजुएट, कला स्नातक ( BA )
कॉलेज ( College )DAV कॉलेज, चंडीगढ़ , कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, हरियाणा
राष्ट्रीयता ( Nationality ) भारतीय
धर्म ( Religion ) हिंदू
जाति ( Cast )हिंदू रोर मराठा
राशि ( Zodiac ) वृश्चिक
लंबाई ( Height ) 5 फुट 10 इंच ( 177 सेमी0 )
वजन ( Weight ) 65 किलोग्राम
पेशा ( Profession )इंडियन ट्रैक एंड फील्ड एथलीट ( जैवलिन थ्रो )
वैवाहिक स्थिति ( Marital Status )अविवाहित
शौक ( Hobbies ) घूमना
भारतीय सेना में पदसूबेदार, राजपूताना राइफल्स, भारतीय सेना
पुरस्कार ( Awards ) अर्जुन पुरस्कार
कोच ( Coach ) उवे हॉन, गैरी कैल्वर्ट, Klaus Bartonietz
नेटवर्थ ( NetWorth )लगभग $5 M
विश्व रैंकिंग ( World Ranking )4

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय, जीवनी, बायोग्राफी, टोक्यो ओलंपिक 2022, रिकॉर्ड, गोल्ड मेडल विजेता, धर्म, जाति, नीरज चोपड़ा उम्र, हाइट, कहाँ के रहने वाले हैं, शेड्यूल, भाले का वजन, किस समाज से हैं, भाला फेंक एथलीट, संबंधित खेल, जन्म कब हुआ था, नीरज चोपड़ा की रियल लाइफ स्टोरी

Neeraj Chopra Biography, Neeraj Chopra Biography in Hindi, Neeraj chopra ka jivan parichay, Neeraj Chopra in Hindi, Neeraj Chopra Biography Hindi Mein, Who is Neeraj Chopra, Success Story of Neeraj Chopra in Hindi, Javelin Throw in Hindi, Tokyo Olympic 2021, Best Throw, Gold Medal, World Ranking, Personal Best, Salary, Height, Weight, Age, Javelin Champion Neeraj Chopra, Religion, Record, Cast, Wiki, Family, Wife, Tokyo Olympic 2021, Neeraj Chopra Income, Salary, Neeraj Chopra NetWorth, Neeraj Chopra is Associated with Which Sport, Neeraj Chopra Wikipedia

neeraj chopra biography in hindi
Neeraj Chopra Biography in Hindi

कौन हैं नीरज चोपड़ा ? नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय, Who is Neeraj Chopra ?

नीरज चोपड़ा एक भारतीय ट्रैक एंड फील्ड एथलीट हैं ।  क्रिकेट की दीवानगी के दौर में उन्होंने अलग हटकर भाला फेंक प्रतिस्पर्धा में ना सिर्फ अपनी पहचान बनाई है बल्कि टोक्यो ओलंपिक 2021 में 121 सालों के लंबे इंतजार के बाद ट्रैक एंड फील्ड, भाला फेंक प्रतियोगिता में भारत को स्वर्ण पदक दिला कर देश का मस्तक गर्व से ऊंचा कर दिया है

>>कौन हैं ऋषि सुनक ? Rishi Sunak Biography in Hindi

नीरज चोपड़ा का जन्म एवं प्रारंभिक जीवन – Neeraj Chopra Birth and Early Life

जैवलिन चैंपियन नीरज चोपड़ा का जन्म हरियाणा में पानीपत के खंडरा नामक गांव में 24 दिसंबर 1997 को हुआ था । पानीपत में ही उनकी प्रारंभिक शिक्षा हुई ।  उनके पिता सतीश कुमार चोपड़ा एक किसान है ।  उनकी माता का नाम सरोज देवी है वह एक गृहिणी हैं ।

नीरज बचपन से ही हृष्ट-पुष्ट थे, परिवार के लोगों के प्यार, तथा हरियाणा के दूध, दही, घी का खाना के कारण केवल 11 वर्ष की उम्र में ही उनका वजन 80 किलो हो गया था ।

नीरज चोपड़ा का परिवार – Neeraj Chopra Family

नीरज चोपड़ा ( Neeraj Chopra ) का परिवार एक संयुक्त परिवार था, उस संयुक्त परिवार में 17 सदस्य रहते थे ।  अपने पांच भाई बहनों के परिवार में नीरज सबसे बड़े हैं, उनके पिता एक किसान है ।  आइए जानते हैं उनके परिवार के सदस्यों के बारे में –

>>फिल्म इंडस्ट्री के चॉकलेटी बॉय रणबीर कपूर का जीवन परिचय, आनेवाली फिल्में, नेटवर्थ, Ranbir Kapoor Biography in Hindi

सदस्य नाम
पिता का नाम ( Father Name )सतीश कुमार चोपड़ा
माता का नाम ( Mother Name ) सरोज देवी
बहनों के नाम ( Sisters Name ) सरिता, संगीता
नीरज चोपड़ा का शैक्षिक विवरण – Neeraj Chopra Education

नीरज की प्रारंभिक शिक्षा पानीपत से ही हुई है । आरंभिक पढ़ाई के बाद इन्होंने अपनी ग्रेजुएशन कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के डीएवी कॉलेज, चंडीगढ़ से पूरी की है ।

नीरज चोपड़ा के कोच और उनका विवरण – Neeraj Chopra Coach

नीरज चोपड़ा के कोच उवे हॉन हैं ।  उवे हॉन रिटायर्ड ट्रैक और फील्ड एथलीट हैं, वे जर्मन के नागरिक हैं । उवे हॉन अपने समय के सर्वश्रेष्ठ भाला फेंक एथलीट रहे हैं, 100 मीटर या उससे अधिक दूरी तक भाला फेंकने वाले वे विश्व के एकमात्र एथलीट हैं, उनका विश्व कीर्तिमान 104.80 मीटर का है ।

>>पूर्व भारतीय महिला क्रिकेट कप्तान मिताली राज का जीवन परिचय | Mithali Raj Biography In Hindi

नीरज चोपड़ा के एथलीट बनने की दास्तां – Story of Neeraj Chopra Becoming an Athlete

बचपन में केवल 11 वर्ष की उम्र में नीरज का वजन 80 किलो हो गया था ।  जब भी वे घर के बाहर निकलते तो बच्चे सरपंच कहकर उन्हें चिढ़ाया करते थे ।  उनका बढ़ता हुआ वजन उनके परिवार वालों को चिंतित करने लगा ।  उनके वजन को कंट्रोल करने के लिए परिवार वालों ने उन्हें वजन को कंट्रोल करने की हिदायत दी ।  उनके गांव खंडरा में जिम की कोई सुविधा ना होने की वजह से उन्होंने पानीपत में एक जिम जॉइन कर लिया, परंतु इसके लिए उन्हे 17 किलोमीटर दूर जाना पड़ता था ।

वह रास्ते में पड़ने वाले शिवाजी स्टेडियम भी अक्सर जाया करते थे जहां वह अलग-अलग खेलों के एथलीट्स को अभ्यास करते हुए देखते थे । अपने एक इंटरव्यू में वह बताते हैं कि उनकी पॉकेट मनी केवल ₹30 होती थी, और उनके पास जूस पीने के लिए पैसे नहीं होते थे ।

>>एक शिक्षिका से राष्ट्रपति तक का सफर, जानिए द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय में

नीरज चोपड़ा स्टेडियम में दौड़ लगाते हुए सीनियर भाला फेंक खिलाड़ी जयवीर को प्रैक्टिस करते हुए देखा करते थे ।  जयवीर ने राज्य स्तर पर भाला फेंक में हरियाणा राज्य का प्रतिनिधित्व किया था ।  खुद को प्रैक्टिस करते हुए उत्सुकता से देखने के कारण जयवीर ने नीरज से भाला फेंकने के लिए कहा ।  जब नीरज ने भाला फेंका तो उन्हे एहसास हुआ कि वह दूर तक भाला फेंक सकते हैं, और इसी आत्मविश्वास ने उन्हें भाला फेंक एथलीट बना दिया ।

कुछ समय तक उन्होंने जयवीर के साथ प्रशिक्षण किया ।  बाद में नीरज ने पंचकुला में एक स्पोर्ट्स नर्सरी में दाखिला ले लिया, उस समय वह 14 वर्ष के थे ।  वहां उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर खेलने वाले एथलीट्स के साथ प्रशिक्षण लिया, और इस तरह नीरज ने भाला फेंक ( Javelin Throw ) को अपना कैरियर बना लिया ।  

भाला फेंक प्रतिस्पर्धा क्या है ? नियम – What Is Javelin Throw ? Rules

भाला फेंक ( Javelin Throw ) एक ट्रैक और फील्ड प्रतिस्पर्धा है। इसमें प्रतिभागी एक लंबे भाले ( Javelin ) को सीमित किए गए क्षेत्र में एक 4 मीटर चौड़े रनवे पर दौड़ते हुए, अधिक से अधिक दूर फेंकने का प्रयास करता है ।

>>जानिए महान भक्त कवि सूरदास जी के जीवन व रचनाओं के बारे में सविस्तार जानकारी, surdaskajivanparichay

इसमें रनवे की लंबाई 30 से 36.50 मीटर और चौड़ाई 4 मीटर होती है ।  रनवे के दूसरे छोर पर एक अर्धचंद्राकार ( Arch ) लाइन बनी होती है, जिसकी चौड़ाई 7 सेंटीमीटर होती है ।  इस लाइन को स्क्रैच लाइन कहते हैं ।

इस में प्रयोग किए जाने वाले जैवलिन के मुख्य रूप से 3 भाग होते हैं –

  • सबसे आगे धातु का बना हुआ नुकीला भाग ( Tip)
  • लचीली लकड़ी या धातु का शेष भाग
  • इसके बीच में लकड़ी पर लपेटा हुआ मोटे धागे का भाग ( Grip) यह ग्रिप लकड़ी के डायमीटर से अधिकतम 0.31 इंच मोटी हो सकती है ।

जैवलिन थ्रो को भी तीन प्रमुख भागों में बांटा जाता है, रन-अप, ट्रांजिशन, डिलीवरी

भाला फेंक प्रतिस्पर्धा में सेक्टर एंगल 28.96 डिग्री होता है ।  भाले का वजन व जमीन से ऊंचाई महिला व पुरुषों के लिये भिन्न-भिन्न होती है, जो नीचे दी गई है –

>>जानिए महान संत कवि कबीर दास जी के जीवन व रचनाओं के बारे में सविस्तार जानकारी,kabirdas ka jivan parichay in hindi

जेंडर लंबाईवजन
पुरुष 2.60 – 2.70 मी0800 ग्राम
महिला 2.20 – 2.30 मी0600 ग्राम

नियम –

  • प्रतियोगी को भाला फेंकने के समय उसे कंधे के ऊपर से फेंकना चाहिए ।
  • खिलाड़ी को अपनी पीठ, भाला छोड़ने से पहले पूर्णतः वृत्तखंड की ओर नहीं करनी चाहिए ।
  • खेल में खिलाड़ी को कोई भी दस्ताने पहनने की छूट नहीं होती ।
  • भाला छोड़ने से पहले खिलाड़ी रनवे नहीं छोड़ सकता, न ही पीछे मुड़ कर देख सकता है ।
  • यदि खिलाड़ी वृत्तखंड या किनारे पर बनाई गई लाइनों को दौड़ते समय टच कर देता है, तो यह फाऊल माना जाता है ।
  • इस खेल में यदि भाले का नुकीला हिस्सा जमीन पर गिरे और उसमें धंस जाए तभी सही थ्रो माना जाता है
  • सही दूरी मापने के लिए खिलाड़ी का सेक्टर एंगल के अंदर टिप करना जरूरी है।

जैवलिन न खरीद पाने की मजबूरी – The Compulsion of not Being Able to BuyJavelin

Neeraj Chopra Biography in Hindi में आप जानेंगे कि नीरज एक गरीब परिवार से थे, उनके पास नीरज को भाला दिलाने के पैसे भी नहीं थे, किसी तरह उन्होंने नीरज को 7000 रुपये का भाला दिलवाया । हालांकि जैवलिन थ्रो के लिए मिलने वाले प्रोफेशनल भाले की कीमत लगभग डेढ़ लाख रुपये थी ।  

भले ही नीरज के हाथ में सस्ता भाला रहा हो, परंतु उनके हौसलों की उड़ान बहुत बुलंद थी ।  गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले नीरज के पास जैवलिन खरीदने के साथ-साथ एक पर्सनल कोच रखने की क्षमता भी नहीं थी ।  नीरज ने उसी सस्ते जैवलिन से अपने कैरियर को सजाया, संवारा और खुद को उस मुकाम पर पहुंचा दिया जहां ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने के बाद उनके ऊपर चारों ओर से करोड़ों रुपयों की बरसात होने लगी ।  

>>भारत के अंतिम व महान पराक्रमी हिन्दू राजा पृथ्वीराज चौहान का जीवन परिचय, इतिहास | The Last Indian Hindu King Prithviraj Chauhan Biography in Hindi, History  

नीरज भले ही आर्थिक रूप से कमजोर रहे हो परंतु मानसिक रूप से वे एक सशक्त खिलाड़ी है, उनका कहना था कि भले ही मेरे पास पैसों की कमी हो परंतु खेल के लिए मेरे अंदर जुनून की कमी नहीं । कोच ना होने पर उन्होंने खेल की बारीकियां सीखने के लिए वे यूट्यूब पर एक्सपर्ट के वीडियो देखा करते थे, और फिर उन्हीं के आधार पर प्रैक्टिस करते थे, उनकी यह कड़ी मेहनत रंग लाई और उनका कैरियर परवान चढ़ने लगा ।

नीरज चोपड़ा का एथलेटिक कैरियर ( भाला फेंक ) – Neeraj Chopra Athletic career ( Javelin Throw )

  • नीरज चोपड़ा ने मात्र 11 वर्ष की उम्र में पानीपत के स्टेडियम में जयवीर चौधरी को जैवलिन थ्रो का अभ्यास करते देखा, तभी से इन्होंने जेवलीन थ्रो में अपना कैरियर बनाने का निश्चय कर लिया ।
  • साउथ एशियन गेम्स 2016 में नीरज चोपड़ा ने 82.23 मीटर भाला फेंककर स्वर्ण पदक जीता ।
  • World Under-20 , 2016 में नीरज चोपड़ा ने स्वर्ण पदक जीता, पर दुर्भाग्य से वह 2016 ओलंपिक में क्वालीफाई ना कर सके ।
  • एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2017 में नीरज चोपड़ा ने 85.23 मीटर भाला फेंक कर स्वर्ण पदकजीता ।

>>Raksha Bandhan Essay in Hindi | रक्षा बंधन पर निबंध । रक्षा बंधन 2022

  • कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में भी नीरज ने 86.48 मीटर दूरी पर भाला फेंक कर गोल्ड मेडल जीता ।  वह कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने वाले नीरज भारत के पहले भाला फेंक खिलाड़ी बने ।
  • दोहा डायमंड लीग 2018 में इन्होंने 87.43 मीटर भाला फेंका ।  
  • नीरज चोपड़ा को 2018 में ही अर्जुन पुरस्कार प्रदान किया गया ।
  • विशिष्ट सेवा मेडल भी इन्हें मिल चुका है ।
  • 2018 में नीरज चोपड़ा ने एशियन गेम्स में 88.06 मीटर जैवलिन थ्रो करके स्वर्ण पदक जीता ।

नीरज चोपड़ा की वर्षवार एथलेटिक उपलब्धियां/रिकॉर्ड – Year wise Athletic Achievements/ Records of Neeraj Chopra

प्रतिस्पर्धास्थानवर्षदूरीस्थान
विश्व U20 चैंपियनशिप व्यडगोस्जकज, पोलैंड201686.48 मी01
एशियाई चैंपियनशिप भुवनेश्वर, भारत201785.23 मी01
विश्व महाद्वीपीय कप ओस्ट्रावा, चेक गणराज्य201880.24 मी06
राष्ट्रमंडल खेल गोल्ड कोस्ट, ऑस्ट्रेलिया201886.47 मी01
एशियाई खेल जकार्ता, इंडोनेशिया201888.06 मी01
टोक्यो ओलंपिक 2021टोक्यो, जापान202187.58 मी01
वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2022 यूजीन और ओरेगॉन, अमेरिका 202288.13 मी02

>>Uttarakhand GK in hindi | उत्तराखंड सामान्य ज्ञान श्रृंखला भाग 1

नीरज चोपड़ा को मिलने वाले सम्मान/पुरस्कार – Awards/Honours to Neeraj Chopra

प्रतिस्पर्धा का नाम वर्षमेडल
राष्ट्रीय जूनियर चैंपियनशिप 2012गोल्ड मेडल
राष्ट्रीय युवा चैंपियनशिप 2013सिल्वर मेडल
तीसरा विश्व जूनियर अवार्ड 2016गोल्ड मेडल
एशियाई जूनियर चैंपियनशिप 2016सिल्वर मेडल
दक्षिण एशियाई खेल 2016गोल्ड मेडल
एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2017गोल्ड मेडल
एशियाई खेल चैंपियनशिप स्वर्ण गौरव 2018गोल्ड मेडल
गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेल 2018गोल्ड मेडल
अर्जुन पुरस्कार 2018
टोक्यो ओलंपिक2021गोल्ड मेडल
पद्म श्री पुरस्कार2022
वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2022सिल्वर मेडल

आर्मी में जूनियर कमिशन्ड ऑफिसर ( JCO) भी हैं नीरज चोपड़ा – Neeraj Chopra is also a Junior Commissioned Officer ( JCO ) In the Army

Neeraj Chopra Biography in Hindi लेख में हम बता रहे हैं कि ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा भारतीय सेना में जूनियर कमीशंड ऑफिसर के पद पर तैनात हैं ।  एक सक्षम खिलाड़ी बनने के बाद नीरज ने राष्ट्रीय स्तर के कई पदक जीते ।  पोलैंड में 2016 में IAAF World U20 चैंपियनशिप मैं इन्होंने 86.48 मीटर दूरी पर भाला फेंककर गोल्ड मेडल जीता ।  

>>सोशल मीडिया सनसनी उर्फी जावेद का जीवन परिचय, Urfi Javed Biography in Hindi

इनकी प्रतिभा से प्रभावित होकर इंडियन आर्मी ने राजपूताना रेजीमेंट में इन्हें जूनियर कमीशंड ऑफीसर ( नायब सूबेदार ) पद पर भर्ती कर लिया ।  भारतीय सेना में भर्ती होने के बाद उन्होंने कहा था –

“मुझे अपने खेल प्रशिक्षण को बनाए रखने के लिए एक नौकरी की सख्त जरूरत थी, इसलिए मैंने नौकरी स्वीकार कर ली ।  मेरी फैमिली में कोई भी सरकारी नौकरी पर नहीं है मुझे यह नौकरी मिल चुकी है, अब मैं अपने परिवार की आर्थिक मदद कर सकूंगा , और अपनी ट्रेनिंग भी जारी रख सकूंगा ।”

विश्व रैंकिंग में नीरज चोपड़ा का स्थान – Neeraj Chopra World Ranking

प्रतियोगितास्थानस्कोर
भाला फेंक ( पुरुष )41320
समग्र रैंकिंग ( पुरुष )107 1320

टोक्यो ओलंपिक 2021 में गोल्ड जीतकर बढ़ाया भारत का मान – Honoured the nation by Winning Gold in Tokyo Olympics 2021

>> Biography of Virat Kohli  “The Aggressive Captain”  in Hindi |भारतीय क्रिकेट के पूर्व आक्रामक कप्तान विराट कोहली का जीवन परिचय

7 अगस्त……. जी हाँ …… यही वह ऐतिहासिक दिन था जब टोक्यो ओलंपिक 2021 में नीरज चोपड़ा ने इतिहास रचते हुए भारत को स्वर्ण पदक दिलाया और हम सबको गौरवान्वित होने का मौका दिया ।  जैवलिन थ्रो प्रतियोगिता के फाइनल में अपने दूसरे ही प्रयास में नीरज ने 87.58 मीटर दूरी पर भाला फेंक कर गोल्ड मेडल पर अपना दावा पक्का कर लिया ।

चेक रिपब्लिक के दो खिलाड़ियों को पछाड़ते हुए उन्होंने स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया ।  उनके स्वर्ण पदक का महत्व इसलिए और बढ़ जाता है क्योंकि इससे पहले ओलंपिक में भारत ने एथलेटिक्स में कभी गोल्ड मेडल नहीं जीता था ।  ओलंपिक में उनकी इस सुनहरी जीत से पूरा देश झूम उठा ।

नीरज चोपड़ा की कुल आय नेटवर्थ – Neeraj Chopra Net Worth/Income/Salary

नीरज चोपड़ा ( Neeraj Chopra ) वर्तमान में JSW Sports टीम में हैं ।  वर्ष 2021 तक वे स्पोर्ट्स ड्रिंक की प्रसिद्ध कंपनी गेटोरेड के ब्रांड एंबेसडर थे ।  टोक्यो ओलंपिक 2021 में गोल्ड जीतने के बाद नीरज चोपड़ा की ब्रांड वैल्यू आश्चर्यजनक रूप से 1000% से भी अधिक बढ़ गई, यहां तक की इस जीत ने उन्हें एक ऐसे मुकाम पर पहुंचा दिया जहां उन्होंने विराट कोहली को भी पीछे छोड़ दिया और सबसे मूल्यवान खिलाड़ी बन गए ।  वर्तमान में उनकी आय के आंकड़े( Neeraj Chopra NetWorth ), Neeraj Chopra Biography in Hindi पोस्ट में हम आपको बताते हैं जो निम्न प्रकार हैं –

>>Pradhanmantri Sangrahalaya in Hindi | प्रधानमंत्री संग्रहालय उद्घाटन 2022

मासिक आय40 लाख रुपए
वार्षिक आय5 करोड़ रुपए
कुल संपत्ति ( US डॉलर में )$ 5 मिलियन ( लगभग )

नीरज चोपड़ा वर्तमान में जिन कंपनियों के लिए प्रचार ( विज्ञापन ) कर रहे हैं वे निम्नलिखित हैं –

  • एमस्ट्राड एसी
  • P & G
  • क्रेड ( CRED)
  • गुड डॉट
  • टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस
  • मसलब्लेज
  • मोबिल इंडिया

टोक्यो ओलंपिक 2021 में गोल्ड जीतने पर मिले ढेरों पुरस्कार – Many Prizes Received for Winning Gold in Tokyo Olympics 2021

दोस्तों Neeraj Chopra Biography in Hindi में हमने आपको बताया कि किसी समय अपने लिए एक प्रोफेशनल जैवलिन न खरीद पाने वाले नीरज चोपड़ा पर टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने के बाद मानों रुपयों की बारिश होने लगी, जो इस प्रकार हैं-

>> The Indian Monk Swami Vivekananda Biography in hindi |भारतीय संत स्वामी विवेकानंद का जीवन परिचय, जीवनी

  • हरियाणा सरकार ने नीरज चोपड़ा को 6 करोड़ रुपए का पुरस्कार दिया ।
  • पंजाब सरकार ने नीरज चोपड़ा को 2 करोड़ रुपए पुरस्कार में दिए ।
  • BCCI ने 1 करोड़ रुपए नीरज को पुरस्कार दिया ।
  • चेन्नई सुपर किंग्स फ्रेंचाइजी की ओर से 1 करोड़ रुपए का पुरस्कार दिया गया ।
  • भारत सरकार ने नीरज चोपड़ा को बड़े पद पर एक सरकारी नौकरी देने की घोषणा की ।
  • महिंद्रा कंपनी के मालिक आनंद महिंद्रा ने नीरज चोपड़ा को एक्सयूवी 700 कार गिफ्ट करने का ऐलान किया ।
  • यह भी घोषणा की गई कि नीरज चोपड़ा कहीं भी जमीन खरीदते हैं तो उन्हें 50% की छूट मिलेगी ।
  • एक और घोषणा की गई कि नीरज चोपड़ा को पंचकूला में बनने वाले Athletes Centre का प्रमुख बनाया जाएगा ।

ओलंपिक उपलब्धि को फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह को किया समर्पित – Olympic Achievement Dedicated to Flying Sikh Milkha Singh

नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक की अपनी जीत को देश के महान धावक ‘फ्लाइंग सिख’ मिल्खा सिंह को समर्पित किया है ।

>>देश के गौरव, मिसाइल मैन, ए पी जे अब्दुल कलाम का जीवन परिचय | APJ Abdul Kalam Biography in Hindi

सोशल मीडिया पर नीरज चोपड़ा – Neeraj Chopra on Social Media

सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म लिंक
फ़ेसबुकयहाँ क्लिक करें
ट्विटरयहाँ क्लिक करें
इंस्टाग्रामयहाँ क्लिक करें
विकिपीडियायहाँ क्लिक करें

नीरज चोपड़ा से संबंधित रोचक तथ्य – Neeraj Chopra Interesting Facts

Neeraj Chopra Biography in Hindi में जानिए नीरज चोपड़ा के बारे में कुछ रोचक तथ्य –

  • नीरज चोपड़ा जब मात्र 11 साल के थे तब उनका वजन 80 किलो था।
  • विकास गौड़ा के बाद नीरज दूसरे भारतीय एथलीट हैं जिन्होंने डायमंड लीग इवेंट में भाग लिया है।
  • नीरज चोपड़ा ने 2014 में अपना पहला भाला खरीदा जिसकी कीमत 7000 रुपये थी, इन्होंने बाद में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने के लिए एक लाख रुपए का भाला खरीदा था ।
  • चेक रिपब्लिक के एक रिटायर्ड ट्रैक और फील्ड एथलीट जेन जेलेंज़ी के यूट्यूब वीडियोस को देखकर इनमें भाला फेंक के लिए जुनून भर गया।
  • भाला फेंक के नियमित अभ्यास और देश-विदेशों में विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रतिभागिता के व्यस्त कार्यक्रमों की वजह से वे कक्षा नौ तक ही नियमित स्कूल में पढ़ाई कर सके, बाकी पढ़ाई उन्होंने ओपन स्कूल से की ।
  • नीरज चोपड़ा ने प्रसिद्ध कोच उवे हॉन के साथ-साथ वर्नल डेनियल से भी प्रशिक्षण प्राप्त किया है ।
  • मिल्खा सिंह, कृष्णा पूनिया, विकास गौड़ा के बाद नीरज चोपड़ा ने राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता है, वे ऐसे चौथे व्यक्ति हैं ।
  • नीरज चोपड़ा भाला फेंक खेल की बारीकियां यूट्यूब वीडियो देखकर सीखते थे ।

भाला फेंक दिवस, 7 अगस्त – (Javelin Throw Day- 7 August )

7 अगस्त को नीरज चोपड़ा द्वारा टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने के बाद से यह दिन एक ऐतिहासिक दिन बन चुका है ।  नीरज चोपड़ा ने स्वर्ण पदक जीतकर इस दिन को भारतीय ओलंपिक के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में लिख दिया है ।

>>उपन्यास सम्राट प्रेमचन्द का जीवन परिचय | Biography Of Premchand In Hindi| PremChand Ka Jivan Parichay

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने 7 अगस्त को पूरे देश में भाला फेंक दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की है।अतः अब 7 अगस्त भाला फेंक दिवस ( Javelin Throw Day) के रूप में पूरे देश में मनाया जाएगा ।

वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2022 में जीता सिल्वर मेडल(Neeraj Chopra Latest News )

Neeraj Chopra Biography in Hindi में आप पढ़ रहे हैं टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड जीतने के बाद एक बार फिर से नीरज चर्चाओं में है उन्होंने हाल ही में वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2022 में रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया है ।  नीरज चोपड़ा, अंजू बॉबी जॉर्ज के बाद दूसरे ऐसे भारतीय हैं जिन्होंने यह कारनामा कर दिखाया है ।

नीरज ने इस प्रतियोगिता के फाइनल में अपने चौथे प्रयास में 88.13 मीटर भाला फेंका, और सिल्वर मेडल पर अपना कब्जा जमाया ।  

>> पढ़िए शिक्षकों के सम्मान व स्वागत का दिन “शिक्षक दिवस” के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी, भाषण व निबंध

>> गणेश चतुर्थी लेख में पढिए पर्व को मनाने का कारण, इतिहास, महत्व और गणपति के जन्म की अनसुनी कथाएं

>> पढिए भक्ति रस से सराबोर पर्व जन्माष्टमी का विस्तृत वर्णन

 >>   लगातार दो बार ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु की जीवनी, कैरियर, रिकॉर्ड, संघर्ष, उपलब्धियां व नेटवर्थ के बारे में जानिए

>>Mirabai Chanu Biography in Hindi | मीराबाई चानू का जीवन परिचय

>>माँ भारती के सच्चे सपूत, शहीद भगत सिंह का जीवन परिचय, Biography Of Bhagat Singh In Hindi

>>Indian festivalNavratri Essay in Hindi,देश के अलौकिक पर्व नवरात्रि पर निबंध,Chaitra Navratri 2022

>>5 Best Poems Collection | कविता-संग्रह | जीवन-सार

>>रंगों व मस्ती के पर्व होली पर निबंध 2022, इतिहास, महत्व

>>शार्क टैंक इण्डिया : क्या है ?। About Shark Tank India 2022। Shark Tank India Registration | Shark Tank India Kya Hai

>>महान संत तुलसीदास का जीवन परिचय, जीवनी, Tulsidas Biography in Hindi, Tulsidas ka Jeevan Parichay

>>पढ़ाने के खास अंदाज़के लिए प्रसिद्ध खान सर पटना का जीवन परिचय | Khan Sir Patna Biography

>>  भारतीय क्रिकेट के हिटमैन रोहित शर्मा का जीवन परिचय, जीवनी । Rohit Sharma Biography in Hindi

>>Lata Mangeshkar Biography in Hindi | स्वर-साम्राज्ञी-लता मंगेशकर का जीवन परिचय,जीवनी

>>इंडियन Republic day essay in hindi,भारतीय गणतंत्र दिवस पर निबंध 2022

>>भारतीय क्रिकेट स्टारझूलन गोस्वामी का जीवन परिचय,Biography of Jhulan Goswami in Hindi

>>भारतीय वैज्ञानिक डॉ0 गगनदीप कांग की जीवनी,Dr. Gagandeep Kang Biography In Hindi

>>जानें, क्या है मकर संक्रान्ति पर्व , क्यों मनाते हैं ? महत्व, पूजा विधि, स्नान– दान की सम्पूर्ण जानकारी

>>सिक्खों के दशम गुरु, श्री गुरु गोबिन्द सिंह का जीवन परिचय एवं इतिहास | Guru Gobind Singh Biography | History In Hindi

>>नए साल पर निबंध 2022 हिंदी Happy New Year Essay In Hindi 2022

>>क्रिसमस डे 2021 पर निबंध हिंदी में | Essay on Christmas Day 2021 in Hindi

>>पेशावर कांड के महानायक वीर चंद्र सिंह गढ़वाली की जीवनी | वीर चंद्र सिंह गढ़वाली का जीवन परिचय

FAQ

प्रश्न – नीरज चोपड़ा कौन है ?

उत्तर – नीरज चोपड़ा भारत के एक भाला फेंक ( Javeline Thrower ) एथलीट है ।

प्रश्न – नीरज चोपड़ा का जन्म कब और कहां हुआ था ?

उत्तर – नीरज चोपड़ा का जन्म खंडवा गांव, पानीपत, हरियाणा में 24 दिसंबर 1997 को हुआ था ।

प्रश्न – नीरज चोपड़ा के भाले का वजन कितना है ?

उत्तर – 800 ग्राम

प्रश्न – नीरज चोपड़ा के कोच का क्या नाम है ?

उत्तर – नीरज चोपड़ा के कोच का नाम उवे हॉन है ।  वे जर्मनी के हैं ।

प्रश्न – टोक्यो ओलंपिक 2021 में नीरज चोपड़ा ने कितनी दूर भाला फेंका ।

उत्तर – टोक्यो ओलंपिक में नीरज ने अपने दूसरे ही प्रयास में 87.58 मीटर दूर भाला फेंका ।

हमारे शब्द – Our Words

प्रिय पाठकों ! हमारे इस लेख ( Neeraj Chopra Biography in Hindi (Javelin Thrower) | भाला फेंक एथलीट, ओलंपिक 2021, नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय ) में Neeraj Chopra Biography in Hindi के बारे में नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय से जुड़ी वृहत जानकारी आपको कैसी लगी ? यदि आप ऐसे ही अन्य लेख पढ़ना पसंद करते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें अवश्य लिखें, हम आपके द्वारा सुझाए गए टॉपिक पर लिखने का अवश्य प्रयास करेंगे । दोस्तों, अपने कमेंट लिखकर हमारा उत्साह बढ़ाते रहें , साथ ही यदि आप को हमारा ये लेख पसंद आया हो तो इसे अपने मित्रों के साथ शेयर अवश्य करें ।

अंत में – हमारे आर्टिकल पढ़ते रहिए, हमारा उत्साह बढ़ाते रहिए, खुश रहिए और मस्त रहिए।

जीवन को अपनी शर्तों पर जियें ।

>> पढिए प्रकाश पर्व दिवाली के हर पहलू की विस्तृत जानकारी

>>पढ़िये शक्ति और शौर्य की उपासना के पर्व दशहरा/विजयदशमी की सम्पूर्ण जानकारी

>> समस्त मनोकामनाओं को पूर्ण करने वाले महत्वपूर्ण हिन्दू पर्व शारदीय नवरात्रि के बारे में जानिए सम्पूर्ण जानकारी

>>जानिए श्राद्ध पक्ष की पूजा विधि, इतिहास और महत्व की सम्पूर्ण जानकारी

>>जानिए राष्ट्रभाषा हिन्दी के सम्मान एवं गौरव का दिन “हिन्दी दिवस” के बारे में विस्तृत जानकारी

देखिए विशिष्ट एवं रोचक जानकारी Audio/Visual के साथ sanjeevnihindi पर Google Web Stories में –

>गुप्त नवरात्रि 2022 : इस दिन से हैं शुरू,जानें-घट स्थापना,तिथि,मुहूर्त

>क्या आप जानते हैं? लग्जरी कारों का पूरा काफ़िला है विराट कोहली के पास

>प्रधानमंत्री संग्रहालय : 10 आतिविशिष्ट बातें जो आपको जरूर जाननी चाहिए

>शार्क टैंक इण्डिया : क्या आप जानते हैं, कितनी दौलत के मालिक हैं ये शार्क्स ?

>हिटमैन रोहित शर्मा : नेटवर्थ, कैरियर, रिकॉर्ड, हिन्दी बायोग्राफी

>चैत्र नवरात्रि 2022 : अगर आप भी रखते हैं व्रत तो जान लें ये 9 नियम

>IPL 2022 : जानिए, रोहित शर्मा का IPL कैरियर, आग़ाज़ से आज़ तक

>चैत्र नवरात्रि : ये हैं माँ दुर्गा के नौ स्वरूप

>झूलन गोस्वामी : चकदाह से ‘चकदाह-एक्सप्रेस’ तक

>शहीद-ए-आज़म भगत सिंह का क्रांतिकारी जीवन

>2 नहीं 4 बार आते हैं साल में नवरात्रि

30 thoughts on “Neeraj Chopra Biography in Hindi (Javelin Thrower) | भाला फेंक एथलीट, ओलंपिक 2021, नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय”

Leave a Comment

error: Content is protected !!